कैबिनेट मंत्री ने विधायक संग मैथानी के लिए मांगे वोट


कैबिनेट मंत्री ने विधायक संग मैथानी के लिए मांगे वोट।
अनुच्छेद 370 भारत माता के सिने पर खंजर जैसा था-कमल रानी
 कानपुर। मोदी- योगी सरकार के ऐतिहासिक फैसलों से विपक्ष में भगदड़ के हालात हैं ।उन्हें मोदी योगी सरकार के खिलाफ कोई गंभीर मुद्दा नहीं मिल रहा।बेमतलब के मुद्दे उठाने से उनकी केवल जग हंसाई ही हो रही है ।
उक्त बातें उत्तर प्रदेश सरकार की प्राविधिक शिक्षा मंत्री कमल दानी वरुण ने रविवार को भाजपा गोविंद नगर विधानसभा उपचुनाव के प्रत्याशी सुरेंद्र मैथानी के जनसंपर्क के दौरान कहीं ।मंत्री कमल रानी ने बिल्हौर विधायक भगवती सागर पूर्व विधायक रघुनंदंन सिंह भदौरिया स़ंग मोटर साइकलो व कारो के काफिले के साथ गोविंद नगर विधानसभा के दबौली , रतनलाल नगर ,बर्रा,गोबिन्द पुरी कच्ची बस्ती आदि क्षेत्रों में जनसंपर्क कर मतदाताओं से भाजपा प्रत्याशी सुरेंद्र मैथानी को भारी बहुमत से जिताने की अपील की जगह-जगह रुककर उन्होंने अपने संक्षिप्त संबोधन में विपक्षियों पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने बर्रा मे कहा कि मोदी और अमित शाह की यह वह जोड़ी है जो असंभव को भी संभव बना दे ।यह सब संभव हो सका आर एस एस के राष्ट्रीयता के ओतप्रोत संस्कारों से ।कमल रानी वरुण ने विपक्ष खासकर कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि अनुच्छेद 370 व 35ए  को हटाने का साहस कांग्रेस की  सरकारें कभी नहीं कर सकी। उन्होंने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि लगता है इसके पीछे उन्हें पाकिस्तान का डर था ।"जहां हुए बलिदान मुखर्जी -वह कश्मीर हमारा है,जो कश्मीर हमारा है वह पूरे का पूरा हमारा है"यह नारा केवल भाजपा का ही नहीं बल्कि पूरे देश के लोगों का संकल्प व सपना था जिसे मोदी सरकार ने पूरा किया ।एक प्रकार से अनुच्छेद 370 एवं 35ए भारत माता के सीने पर खंजर की तरह था जिसे भाजपा की केंद्र सरकार ने तोड़ दिया है ।यह वही खूनी खंजर था जो आए दिन भारत माता को जख्म देता रहता था उन्होंने संसद में गृहमंत्री अमित शाह के भाषण का जिक्र करते हुए कहा कि देश के गृहमंत्री ने देश ही नहीं बल्कि दुनिया के सामने ललकारते हुए कहा था कि यह कश्मीर तो हमारा है ही ,पाक के कब्जे वाले अपने कश्मीर को भी हम लेकर रहेंगे।उनके इस बयान के बाद पाकिस्तान की रातों की नींद हराम हो गई है। उन्होंने आगे कहा मोदी सरकार के ऐतिहासिक फैसलों से  देश में विपक्ष भी किंकर्तव्यविमूढ़ की स्थिति में आ गया है। कांग्रेस सहित विपक्षी दल केंद्र सरकार के फैसलो  को आश्चर्यचकित होकर केवल देखते रह जा रहे हैं। केंद्र सरकार के फैसलों को लेकर उनमें आपस में ही सर फुटव्वल मची है। बिल्हौर से विधायक भगवती सागर ने कहा कि उप चुनाव मे ऐसी ऐतिहासिक जीत हो कि अनुच्छेद 370 एवं 35ए का विरोध करने वाले दलों व नेताओं की चूलें हिल जाए। उन्होंने कहा कि भाजपा की केन्द्र सरकार हो या प्रदेश सरकार दोनो ही गरीबो,दलितों व वंचितों के लिए काम कर रही है।
जनसंपर्क यात्रा का संयोजन पार्षद नवीन पंडित ने किया। यात्रा मे प्रमुख रुप से वरिष्ठ भाजपा नेता प्रकाश वीर आर्य, सूर्यकांत मिश्रा, जसपाल भगत, गुड्डन दुबे, सर्वेश सोनकर हरप्रीत सिंह, शम्मी भल्ला आदि थे।


Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...