पटेल जयंती पर भाजपाइयों ने लगाई दौड़, देश की एकता व अखंडता को बनाए रखने की ली शपथ।


पटेल जयंती पर भाजपाइयों ने लगाई दौड़, देश की एकता व अखंडता को बनाए रखने की ली शपथ।
कानपुर।लौह पुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल की  जयंती के अवसर पर आयोजित रन फॉर यूनिटी में गुरुवार को शहर भर के भाजपाइयों ने दौड़ लगाकर एकता का संदेश दिया।गांधी जंयती 2अक्टूबर से पटेल जयंती(31अक्टूबर) तक भाजपा ने "गांधी संकल्प यात्रा"निकालनी थी।इसके लिए प्रत्येक सांसद को लगभग 150 किलोमीटर यात्रा का लक्ष्य दिया गया।गुरुवार को "रन फार युनिटी" दौड के साथ यात्रा का भी समापन हो गया।भाजपा दक्षिण जिले द्वारा साकेत नगर स्थित दीप टॉकीज तिराहे से "रन फॉर यूनिटी" का आयोजन किया गया। यहां भाजपा प्रदेश मंत्री ने भाजपाइयों को हरी झंडी दिखाई। इस मौके पर भाजपाइयों ने देश की एकता एवं अखंडता को अक्षुण्य रखने की शपथ ली।



भाजपाई गुरुवार सुबह 7:30 बजे के पहले ही दीप टॉकीज तिराहे पर एकत्रित होना शुरू हो गए थे । भाजपा के प्रदेश मंत्री प्रकाश पाल ने जैसे ही भाजपाइयों को हरी झंडी दिखाई भाजपाई दक्षिण जिला भाजपा अध्यक्ष अनीता गुप्ता के नेतृत्व मे हाथों में तिरंगा झंडा थामे व सफेद रंग की बनियान व टोपी पर लिखे स्लोगन "मन मे बापू" पहने दौड़ पड़े ।दौड़ के दौरान ही भाजपाइयों ने सरदार पटेल अमर रहे ,भारत माता की जय ,वंदे मातरम ,के जोरदार नारे बुलंद किए।लगभग 1 किलोमीटर दौड़ने के पश्चात भाजपाई बर्रा स्थित पटेल चौक पहुंचे। यहां भाजपाइयों ने पटेल की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर देश की एकता व अखंडता को अक्षुण्ण बनाए रखने की शपथ ली ।इसके पूर्व हुई संक्षिप्त सभा में वक्ताओं ने कहा कि देश के विकास की इस दौड़ में एकता का संदेश भी हर और गुंजायमान हो रहा है ।सरदार पटेल ने देश के को न सिर्फ संकट से बचाया बल्कि देश की छोटी-छोटी रियासतों को बटने के खतरे से भी बचाया ।सरदार पटेल ने साम, दाम ,दंड ,भेद का प्रयोग कर बहुत कम समय में देश को एकता के सूत्र में बांध दिया। वक्ताओं ने आगे कहा कि सरदार पटेल के नाम को नई पीढ़ी को सही से बताया ही नहीं गया। इतिहास में उनके नाम को मिटाने का प्रयास हुआ या फिर उनके नाम को छोटा करने का प्रयास किया गया लेकिन देश सरदार पटेल का नाम भूलने को तैयार नहीं है ।सरदार पटेल के कार्य पीढ़ी दर पीढ़ी बड़े इसिलिए भाजपा हर साल "रन फॉर यूनिटी" का आयोजन करती है जो अब एक पर्व बन गया है।वक्ताओं ने कहा कि स्वाधीनता संग्राम और उसके उपरांत देश की अखंडता को बनाए रखने में सरदार पटेल ने अहम भूमिका निभाई उनकी विश्व में सबसे ऊंची प्रतिमा को स्थापित करने का कार्य भाजपा की केन्द्र सरकार ने ही किया है।आज हर भारतीय इस पर गर्व कर रहा है।काश्मीर से अनुच्छेद 370 व 35ए को हटाने के साहसभरे फैसले की प्रेरणा मोदी सरकार को सरदार पटेल जैसे अदम्य साहस के धनी व्यक्तित्व से ही मिली है।कांग्रेस द्वारा सरदार पटेल को भुला देने का ही दुष्परिणाम रहा कि उसने उस अनुच्छेद को हटाने के बारे मे कभी सोचा तक नही जो एक प्रकार से अलगाववादियों एवं आतताइयों का रक्षा कवच था।मोदी सरकार के साहसिक फैसलो ने देश के नागरिकों मे एक नई प्रकार की ऊर्जा का संचार किया है।विपक्षी जहाँ मोदी सरकार के फैसलो से न केवल हतप्रभ व सदमे मे है वही दुनिया के बडे देश भारत को एक नई उभरती ताकत के रुप मे देख रहे है।कार्यक्रम का संचालन दक्षिण जिले के महामंत्री शिव राम सिंह ने किया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से जिला अध्यक्ष अनिता गुप्ता, विधायक महेश त्रिवेदी , पूर्व विधायक रघुनंदंन सिंह भदौरिया , जिला महामंत्री शिव शंकर सैनी , अचल गुप्ता, प्रकाश वीर आर्य ,सरन तिवारी, राजेश श्रीवास्तव, रीता शास्त्री, पुष्पा तिवारी,मनीष मिश्रा, पार्षद नवीन पंडित, डा. बीना आर्या,शशांक मिश्रा,रणविजय सिंह राठौर आदि थे।


Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...