मनीषा गैंगरेप मामले में सीबीआई जांच कराकर दोषियों को फांसी की सजा दिलाए सरकार : घनश्याम यादव  :  




रायबरेली। समाजवादी लोहिया वाहिनी के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष सदर रायबरेली घनश्याम यादव ने आज हाथरस की मनीषा बाल्मीकि के साथ हुए गैंगरेप के बिभत्स तरीके से की गई हत्या पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए घटना  की घोर निंदा की और उत्तर प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए गंभीर आरोप लगाया है और कहा  कि आखिर कौन सी ऐसी आपत्ती सरकार के पास आ गई जिसके चलते बच्ची का रात्रि में ही अंतिम संस्कार करा दिया गया कोई आपत्ति है या सरकार अपराधियों को संरक्षण देने के इरादे में है या अन्य अधिकारियों को बचाना चाहती है l और साथ ही साथ आपको यह भी बताते चले कि श्री यादव ने उत्तर प्रदेश सरकार से मनीषा गैंगरेप की घटना की पूरे प्रकरण की सीबीआई जांच करा कर दोषियों को तत्काल फांसी की सजा दिलाए जाने व पीड़ित परिवार को एक करोड़ रुपए की सहायता राशि दिलाए जाने की मांग की है और साथ ही साथ यह भी कहा कि आखिर इन दोषियों के घर पर सरकार बुलडोजर क्यों नहीं चला रही सरकार के सामने क्या मजबूरी है जो निष्पक्ष कार्यवाही नहीं कर पा रही क्या इसी तरह प्रदेश में और देश में बेटियों पर अत्याचार होते रहेंगे और यदि सरकार  ऐसी घटनाओं पर रोक नहीं लगाती है तो आने वाले समय में पूरे प्रदेश में कहीं भी बेटियां सुरक्षित नहीं बचेगी और सरकार अगर यह सोच रही है कि वह तो गरीब की बेटी है तो ऐसा ध्यान से बिल्कुल हटा देना चाहिए  सत्ता में बैठे उन नेताओं को जो बड़े-बड़े पदों पर और मंत्रालयों पर अपना कब्जा जमाए बैठे हैं क्योंकि  उनके घर में भी बेटियां हैं इसलिए सरकार को निष्पक्षता के साथ सीबीआई जांच करा कर पीड़ित परिवार को न्याय दिलाएं अन्यथा जनता खुद न्याय करना अच्छी तरह से जानती है l और सपा नेता ने  सरकार  पर पिछड़ों , गरीबों किसानों और नौजवानों पर उत्पीड़न का आरोप लगाया है और कहा कि उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार में अपराधी बेलगाम हो गए हैं और प्रशासनिक अधिकारी भी सरकार की जातिवादी व तुच्छ मानसिकता के चलते निष्पक्ष कार्यवाही करने से कतराते हैं साथ ही साथ वह दोषियों पर कार्यवाही करने के बजाए पीड़ित पक्ष को ही निरंतर परेशान कर रहे हैं जो इनकी कुत्सित मानसिकता को प्रदर्शित करता है किंतु अब जनता सब कुछ समझ चुकी है इसका जवाब इनको आने वाले समय में जरूर देगी l