युवक से मांगे 10 लाख घूस



उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में जिला विद्यालय निरीक्षक हृदय नारायण त्रिपाठी का एक युवक से बातचीत का ऑडियो सामने आया है, जिसमें वे रिश्वत मांग रहे हैं। दरअसल, सुशील कुमार नाम के एक युवक ने मृतक आश्रित कोटे के तहत नौकरी के लिए आवेदन किया था। लेकिन रिश्वत न देने पर उसकी पत्रावली लटकी है। अब ऑडियो वायरल होने के बाद अभिषेक सिंह ने अशोक बाबू मिश्र को जांच सौंपी है।

किसान इंटर कॉलेज दलीपपुर में प्रवक्ता रहे अमर सिंह यादव के बेटे सुशील ने मृत्यु अनुकंपा के तहत विद्यालय में लिपिक की नियुक्ति को लेकर आवेदन किया था। आरोप है कि बिना रुपए दिए  कार्यालय से फाइल आगे नहीं भेजी जा रही है। नौकरी को लेकर 10 लाख रुपए तक की मांग की गई है। ऑडियो में कहते हुए सुने जा रहे हैं कि यदि पहले धनराशि उपलब्ध करा दिया होता तो 90 हजार का नुकसान नहीं होता। दरअसल, वे तीन माह पहले की ज्वाइनिंग हो जाने की बात कह रहे हैं। सुशील के पिता अमर सिंह की किडनी ट्रांसप्लांट की गई थी जिसमें काफी पैसा खर्च हो चुका है। उसकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है।

 संतोष बाबू से मिल लो। आज मिल करके अपनी बात करो, वो सब कर देंगे। वो बहुत अच्छे आदमी हैं। एक बार बता देंगे तुम्हारा 3 महीने का तीस तियाईं 90 हजार रुपए तो यही घुस गया।

मुख्य विकास अधिकारी अशोक बाबू मिश्रा ने बताया कि वायरल ऑडियो की जांच जिलाधिकारी द्वारा सौंपी गई है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...