27 दिनों में 801 मरीज मिले हैं और 602 ठीक हुए


सर्दी में कोरोना मरीजों की दर चार महीनों में सबसे कम मिली है। 27 दिनों में 801 मरीज मिले हैं और 602 ठीक हुए हैं। इस दौरान महज पांच ने ही दम तोड़ा है। विशेषज्ञ बता रहे हैं कि खतरा कम नहीं हुआ है, ऐसे में पूरी तरह से सावधानी और सतर्कता बरतते रहें।

अगस्त, सितंबर, अक्तूबर और नवंबर में 2.99 लाख लोगों की जांच करने पर 7,495 संक्रमित मिले थे। इन चार महीनों में मरीज मिलने का औसत रोजाना 65 मरीज का है। सर्दी में संक्रमण की दर दोगुनी होने की आशंका थी, लेकिन 27 दिसंबर तक 69 हजार लोगों की जांच करने पर 801 लोगों में ही वायरस की पुष्टि हुई है। इस तरह से इस महीने में रोजाना 31 मरीज मिलने का औसत रहा, जो बीते चार महीनों के मुकाबले आधे से भी कम हैं।

दिसंबर में संक्रमण से मरने वालों में भी भारी कमी आई। इन 27 दिन में पांच मरीजों ने ही दम तोड़ा है। बाकी के नौ महीनों में संक्रमण से 165 मरीजों ने दम तोड़ दिया था। इस तरह से औसतन हर महीने 18 मरीजों की मौत हुई।

सीएमओ डॉ. आरसी पांडेय ने कहा कि कोरोना वायरस का सही आकलन करना चुनौती बना हुआ है। सर्दी में संक्रमण कम होना राहत की बात है, लेकिन इसके प्रति लापरवाही न बरतें, खतरा कम नहीं हुआ है। 

कोरोना वायरस के पारा कम होने पर प्रभावी होने की आशंका जताई थी, लेकिन मरीजों की संख्या में तेजी नहीं आई, दर भी काफी कम हुई। यह बेहतर बात है, लोग अभी भी लापरवाही न बरतें और बिना मास्क के घर से बाहर न जाएं।


Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...