लंदन से मेरठ आए तीन लोग मिले कोरोना संक्रमित


ब्रिटेन में नए कोरोनावायरस से स्वरूप को लेकर भारत में भी चिंता बढ़ गई है। हाल ही में लंदन से आए एक दंपती और उनका बच्चा कोरोना पॉजिटिव मिला है। कोरोना पॉजिटिव मिलने से स्वास्थ्य ​विभाग और जिला प्रशासन में हड़कंप मचा है। फिलहाल तीनों को होम आइसोलेट कर दिया गया है। तीनों के सैंपल लेकर जांच के लिए सेंट्रल लैब के लिए भेजे जा रहे हैं।

सरकार की गाइडलाइन के अनुसार जिले में विदेश से आने वाले लोगों की कोरोना जांच करायी जा रही है। अभी तक विदेश से आए 77 लोगों के सैंपल लिए जा चुके हैं। इन्हीं सैंपल में से शुक्रवार देर रात स्वास्थ्य विभाग को मिली रिपोर्ट में लंदन से आए तीन लोगों में कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि हुई।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार इनमें पति की उम्र करीब 40 वर्ष और पत्नी की उम्र करीब 38 वर्ष है। जबकि उनके बच्चे की उम्र 9 वर्ष है। टीपी नगर क्षेत्र के लल्लापुरा में इस दंपती के माता-पिता रहते हैं, 14 दिसंबर को ये तीनों लंदन से दिल्ली आए थे और 15 दिसंबर को अपने परिवार के लोगों से मिलने के लिए यहां मेरठ पहुंचे थे। विदेश से यहां आने के कारण उनकी जांच के लिए सैंपल लिए गए थे, जिनकी देर रात रिपोर्ट मिली। रिपोर्ट में तीनों के पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई

स्वास्थ्य ​विभाग के अनुसार इस परिवार के लोग कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं, ऐसे में यह भी संभावना जतायी जा रही है कि यह संक्रमण उन्हें यहीं हुआ हो। फिलहाल स्वास्थ्य विभाग ने तीनों के सैंपल जांच के लिए सेंट्रल लैब भेजने की बात कही है ताकि यह पता लगाया जा सके कि उनमें कोरोना के नए स्वरूप के लक्षण है या नहीं। राहत की बात ये है कि तीनों के अंदर अभी किसी तरह के लक्षण नहीं है। ऐहतियात के तौर पर तीनों को घर में ही अलग अलग आइसोलेट कर दिया गया है।

सीएमओ डॉक्टर अखिलेश मोहन के मुताबिक इन तीनों के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने रात में ही जिला प्रशासन को इसकी सूचना दी, जिसके बाद डीएम के. बालाजी ने अधिकारियों के साथ बैठक कर उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश दिये। इस परिवार के संपर्क में आने वाले अन्य लोगों के भी सैंपल लेकर जांच कराने के लिए कहा गया है। 

Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...