सरकार ने किसान संगठनों को लिखा खत मुद्दा तर्कसंगत नहीं

 


बास्केट बॉल खिलाड़ी सतनाम सिंह सिंघु बॉर्डर पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि हम यहां अपनी सेवाएं देने आए हैं ताकि किसानों को कोई तकलीफ न हो

किसान संगठनों को सरकार ने चिट्ठी भेजकर कहा है कि वह सभी मुद्दों पर बात करने को तैयार है। सरकार ने ये भी कहा है कि तीनों कानूनों में एमएसपी की बात नहीं है, सरकार पहले ही सरकार इसे लेकर वर्तमान व्यवस्था चालू रहने के लिए लिखित आश्वासन देने को तैयार हो चुकी है, ऐसे में कानून से बाहर जाकर इसकी कोई मांग तर्कसंगत नहीं है। आवश्यक वस्तु एक्ट में संशोधन पर बात संभव है। विद्युत अधिनियम और पराली पर अभी सिर्फ प्रस्ताव ही लाया गया है। सरकार ने किसानों से वार्ता की तारीख और समय पूछा है।

मथुरा व आगरा से आए किसान महामाया फ्लाईओवर पर डटे हैं जिसके चलते फ्लाईओवर और आसपास के इलाकों में भारी जाम लग गया है।

मथुरा व आगरा से किसान यमुना एक्सप्रेसवे के जीरो प्वाइंट पर पहुंचे। नोएडा से दिल्ली जाने पर अड़े हुए हैं लेकिन पुलिस उन्हें समझाकर वापस भेजने की कोशिश कर रही है

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने किसानों के आंदोलन को लेकर आज कहा, मुझे लगता है कि केंद्र सरकार अपने अहंकार के कारण कृषि कानून के मुद्दों पर अटकी हुई है। उन्होंने किसानों को खालिस्तानी, नक्सल, आतंकवादी और न जाने क्या-क्या नहीं कहा। सरकार की टालमटोल करने की तरकीब अब काम नहीं कर रही।

राष्ट्रपति भवन की ओर मार्च करने निकले प्रियंका गांधी समेत जिन कांग्रेसी नेताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया था, उन्हें मंदिर मार्ग पुलिस थाने ले जाया गया है। 

 राष्ट्रपति से मिलने के बाद राहुल गांधी ने कहा कि, राष्ट्रपति से हमने कहा कि ये जो कानून बनाए गए हैं ये किसान विरोधी हैं और इनसे किसानों,मज़दूरों का नुकसान होने वाला है। मैं प्रधानमंत्री से कहना चाहता हूं कि किसान हटेगा नहीं, प्रधानमंत्री को ये नहीं सोचना चाहिए कि किसान, मजदूर घर चले जाएं

प्रियंका गांधी ने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि भाजपा नेता और समर्थक किसानों के लिए जिस तरह के शब्दों का प्रयोग कर रहे हैं, उसका इस्तेमाल करना पाप है। अगर सरकार किसानों को देशद्रोही कह रही है तो सरकार पापी है।

कृषि कानूनों और किसानों के समर्थन में विजय चौक से लेकर राष्ट्रपति भवन तक मार्च निकालने के दौरान दिल्ली पुलिस ने प्रियंका गांधी समेत कई कांग्रेस नेताओं को हिरासत में ले लिया है।



Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...