यूरिया प्रोडक्शन यूनिट के पंप में लीकेज की वजह से हादसा

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले में मंगलवार रात बड़ा हादसा हुआ। फूलपुर इफको KP-1 यूनिट में अमोनिया गैस का रिसाव हुआ। गैस की चपेट में आने से असिस्टेंट मैनेजर बीपी सिंह और डिप्टी मैनेजर अभय नंदन कुमार की मौत हो गई। 15 अन्य कर्मचारियों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। माना जा रहा है कि यूरिया प्रोडक्शन यूनिट के पंप में लीकेज की वजह से हादसा हुआ। फिलहाल, यूनिट बंद कर दी गई है।

जानकारी के मुताबिक, दो साल में 5 बार यहां गैस लीक हो चुकी है। लेकिन, मैनेजमेंट ने सबक नहीं लिया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुख जाहिर करते हुए जांच के आदेश दे दिए हैं।

यह प्लांट प्रयागराज से करीब 30 किलोमीटर दूर गोरखपुर-जौनपुर मार्ग पर है। यह फूलपुर में इंडियन फार्मर्स फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव लिमिटेड की यूरिया यूनिट है। यहां अमोनिया और यूरिया प्रोडक्शन की दो-दो यूनिट हैं। मंगलवार रात शिफ्ट में करीब 100 कर्मचारी थे। रात करीब 11:30 बजे KP-1 यूनिट में गैस लीक हुई।


कर्मचारी बाहर भागे। ज्यादातर लोग बच गए, लेकिन 17 गैस की चपेट में आ गए। कई कर्मचारी यूनिट में ही बेहोश हो गए। सूचना पर अधिकारी और पुलिस मौके पर पहुंचे। गैस की चपेट में आए कर्मचारियों को हॉस्पिटल शिफ्ट किया गया। असिस्टेंट मैनेजर यूरिया बीपी सिंह व डिप्टी मैनेजर ऑफसाइट अभय नंदन कुमार की इलाज के दौरान मौत हो गई।

 गैस का रिसाव कैसे हुआ? इसकी जांच होना बाकी है। माना जा रहा है कि यूनिट के किसी पंप में लीकेज की वजह से हादसा हुआ। रात में ही लीकेज बन्द कर दिया गया। PRO विश्वजीत श्रीवास्तव के मुताबिक- हादसे में दो अफसरों की मौत हुई है। 15 कर्मचारियों का इलाज चल रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना पर दुख जताया। उन्होंने अफसरों को मौके पर पहुंचकर पीड़ित परिवारों को हर संभव मदद देने का निर्देश दिया।