गिरोह में शामिल बड़े अपराधी शिकार तय करते थे

 


उत्तर प्रदेश के कानपुर में पुलिस ने अंतरराज्यीय मोबाइल चोर गिरोह का भंडाफोड़ किया है। इस गिरोह के 5 सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है। जिनमें 3 आरोपी नाबालिग हैं। गिरफ्तारी के दौरान पुलिस ने 128 महंगे मोबाइल बरामद किए है। सभी आरोपी झारखंड के रहने वाले हैं और लंबे समय से मोबाइल चोरी की घटनाओं को अंजाम दे रहे थे। चोरी करने के बाद एक साथ भारी मात्रा में मोबाइल फोन नेपाल और बांग्लादेश में बेचते थे।

कानपुर में पिछले कई माह से मोबाइल चोरी की घटना अचानक बढ़ गई थी। कानपुर पुलिस को इस शातिर गिरोह की तलाश थी। जिसके लिए कानपुर कोतवाली पुलिस ने एक टीम भी गठित कर रखी थी। सोमवार देर रात पुलिस को सूचना मिली कि मोबाइल चोर गैंग का एक शातिर किशोर शिवाला स्थित बाजार में है। मौके पर सादे कपड़ों में पहुंची पुलिस ने 13 साल के एक किशोर को गिरफ्तार कर लिया। थाने में पूछताछ की गई तो किशोर ने चोरी की कई घटनाओं को कबूल करते हुए अपने अन्य साथियों की भी जानकारी दी।

किशोर की निशानदेही पर पुलिस ने व्यायामशाला तिराहे के पास 2 युवकों और 3 अन्य किशोरों को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार किए गए पांचों आरोपित गुड्डू कुमार महतो और हीरालाल रविदास व अन्य तीन नाबालिग झारखंड के साहेबगंज जिले के राजमहल क्षेत्र के रहने वाले हैं। जिनके पास से पुलिस ने 128 मोबाइल फोन बरामद किए। ज्यादातर फोन 15 हजार रुपए से ज्यादा कीमत के हैं और इनकी कीमत 25 लाख रुपए आंकी गई है।

आरोपी गुड्डू कुमार महतो और हीरालाल रविदास ने पूछताछ के दौरान पुलिस को बताया कि वह लंबे समय से इस गैंग को संचालित कर रहे हैं। समय-समय पर राज्य व जिला बदलकर किराए पर कमरा लेकर रहते हैं। भीड़भाड़ वाले स्थान में लोगों के बीच शामिल हो जाते हैं तथा गिरोह में शामिल नाबालिग के सहारे मोबाइल चोरी की घटना को अंजाम देते हैं। भीड़भाड़ वाले इलाके में महंगे मोबाइल रखने वाले लोगों की तलाश हम पहले से ही कर लेते हैं और फिर उनके पीछे इन सभी नाबालिग बच्चों को लगा देते थे। नाबालिग होने के कारण इन पर किसी को शक भी नहीं होता है। इसका फायदा उठा कर गैंग के नाबालिग बच्चे मोबाइल चोरी घटना को सफलता पूर्वक अंजाम दे 

 ब्रज नारायण सिंह ने बताया कि थाना कोतवाली व सर्विलांस सेल की संयुक्त टीम द्वारा मोबाइल चोरी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का भंडाफोड़ कर 2 अभियुक्त व 3 नाबालिग को 128 मोबाइल फोन के साथ गिरफ्तार किया गया। इनके अन्य साथियों की भी तलाश की जा रही है।

Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...