युवक की हत्या कर गंगा में फेंका शव

 


उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले में बुधवार रात पुलिस मुठभेड़ के दौरान एक शातिर अपराधी राजा बाबू सरोज पकड़ा गया। उसके पैर में गोली लगी है। पुलिस का दावा है कि राजा बाबू ने मनीष कुमार की हत्या कर उसकी लाश गंगा में फेंकने की बात कबूली है। बता दें कि मनीष सोमवार रात से ही लापता है। पुलिस ने गंगा नदी में जाल डालकर शव की तलाश की, लेकिन अभी तक सफलता हाथ नहीं लगी है।

सोरांव थाना क्षेत्र के पुराना फाफामऊ निवासी मनीष कुमार सरोज सोमवार को घर से निकला, लेकिन उसके बाद से वह लापता है। परिवार वालों की सूचना पर पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की तो मंगलवार को उसका जंजीर व कुछ अन्य सामान गंगा नदी की कछार में बरामद हुए। उस पर खून के निशान मिले थे। परिवार वालों ने मामले में रसूलाबाद शिवकुटी के आशीष, ननके, राजाबाबू सरोज, मंजीत और आकाश उर्फ नागा के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। परिजनों का दावा था मनीष को उसके जानने वाले ही झांसा देकर बुला ले गए हैं।

पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास में जुटी है। इसी बीच बुधवार रात सर्विलांस के जरिए पता चला कि फाफामऊ में गंगा के कछार की तरफ मनीष को गायब करने वाले आरोपी छिपे हुए हैं। सोरांव पुलिस और गंगापार मौके पर पहुंची और घेराबंदी की तो राजाबाबू ने टीम पर फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में राजाबाबू के एक पैर में गोली लग गई। जिसके बाद उसे पकड़ लिया गया। उसके पास से तमंचा और कारतूस बरामद किया गया है।

 गंगापार धवल जायसवाल का कहना है कि मुठभेड़ के दौरान राजाबाबू नामक बदमाश के पैर में गोली लगी है। उसने बताया है कि मनीष की हत्या करके लाश को गंगा में फेंक दिया है। हत्या क्यों की गई? इसका पता लगाया जा रहा है। उसके अन्य साथियों की तलाश में दबिश दी जा रही है। उस पर तीन आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं।

Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...