हिमाचल में बर्फबारी पंजाब-हरियाणा में बारिश ने सर्दी बढ़ाई

 


मध्यप्रदेश, पंजाब, हरियाणा और गुजरात के कई शहरों में बारिश के बाद अब ठंड ने देशभर में अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। पंजाब में बारिश के बाद तापमान 4 डिग्री लुढ़क गया है। हरियाणा में  बारिश के बाद पारे में 4.2 डिग्री की गिरावट आई है। उधर, हिमाचल में जारी बर्फबारी से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

हिमाचल में अचानक हुई बर्फबारी के बाद यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। शनिवार सुबह से ही ऊपरी शिमला की तरफ जाने वाले सभी रास्ते बंद हो गए। कुछ रास्तों पर देर शाम 4 बजे के बाद ही बसें चलीं। बर्फबारी के चलते ऊपरी शिमला के 100 रूट प्रभावित हुए हैं।

पहाड़ों में बर्फबारी के चलते दिल्ली का मौसम भी बदला है। यहां घना कोहरा है, जिसके चलते विजिबिलिटी कम हुई है।



पंजाब के कई जिलों में बरसात होने के बाद ठंड ने रफ्तार पकड़ ली है। जालंधर, अमृतसर, लुधियाना, पटियाला, संगरूर में शुक्रवार-शनिवार की रात रुक-रुक कर बारिश हुई, जिसके बाद तापमान 4 डिग्री तक गिर गया। राज्य में 5.2 MM बरसात दर्ज की गई है। अधिकतम तापमान 23 डिग्री तो न्यूनतम, 15.2 डिग्री दर्ज किया गया है।

पश्चिमी विक्षोभ के असर से पहाड़ों पर बर्फबारी होने के बाद हरियाणा में हल्की बारिश हुई। 24 घंटे में औसतन 1.8 MM बारिश दर्ज की गई। रोहतक में दिन के पारे में 4.2 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई, जिसके बाद पारा 19.5 डिग्री पर आ गया, जो सामान्य से 5 डिग्री कम है। करनाल में तापमान 15.4 डिग्री पहुंच गया।

प्रदेश के राजधानी भोपाल समेत कई हिस्सों में शनिवार को बारिश हुई। भोपाल में कुहासा और फुहारों की वजह से शनिवार सुबह 6:30 से सुबह 8 बजे तक विजिबिलिटी 1000 मीटर रह गई थी। सामान्यत: ये करीब 6000 मीटर रहती है। रविवार को भी राजधानी में कोहरा है। मौसम वैज्ञानिक पीके साहा के मुताबिक, नमी ज्यादा है, हवा की रफ्तार कम है, यही कोहरे की वजह है। रात का तापमान में कमी आएगी, दिन का तापमान बढ़ेगा।



हिमालय के क्षेत्र से गुजरे पश्चिम विक्षोभ के कारण राजस्थान के कई शहरों में बूंदाबांदी हुई। माउंट आबू में एक ही दिन में न्यूनतम तापमान में 2.6 डिग्री और अधिकतम तापमान में 6.4 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। माउंट आबू की वादियों में सुबह काफी देर तक घना कोहरा छाया रहा, जिससे विजिबिलिटी खासी कम रही। शनिवार को माउंट आबू का न्यूनतम तापमान 5.4 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान भी 17.6 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया।

सूरत में तीन साल बाद दिसंबर में लगातार तीन दिन तक बारिश हुई। दिनभर रुक-रुक कर बारिश होने से सूरज नहीं निकला। ठंडी हवाएं चलती रहीं और धुंध छाई रही। खराब मौसम के कारण तीन फ्लाइट समय से उड़ नहीं पाईं। विजिबिलिटी कम होने के कारण जयपुर-सूरत फ्लाइट 20 मिनट तक आसमान में ही चक्कर काटती रही।

कश्मीर में तेज ठंड का दौर शुरू हो गया है। यहां सर्दी में चाय-कॉफी की जगह केसर वाला कहवा पीने का रिवाज है। यह उबलते पानी में केसर, चीनी और जड़ी-बूटियां डालकर बनता है। वैसे आजकल पैक्ड केसर कहवा पाउडर भी बाजार में मिलने लगा है। सिर्फ एक चम्मच पाउडर से दो लोगों के लिए स्वादिष्ट कहवा बन जाता है। केसर की तासीर गर्म है। यही कहवा की खासियत



Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...