। पंजाब से कानपुर लौटी एसआइटी,आरोपितों की तलाश


कानपुर।
 सिख विरोधी दंगे के दौरान शहर में कल्याणपुर के शारदानगर में एक परिवार के दो सदस्यों की हत्या के मामले में स्वजन से पूछताछ करने के बाद विशेष जांच टीम (एसआइटी) पंजाब से लौट आई है। अब एसआइटी बयानों के आधार पर सामने आए दंगाइयों की तलाश में जुटी है। अर्मापुर थाने में दर्ज हुए एक मुकदमे में बयान लेने टीम जल्द ही मध्यप्रदेश के जबलपुर जाएगी। 

कानपुर में सिख विरोध दंगे के दौरान शारदानगर में हुकुम सिंह के दो बेटों भगत ङ्क्षसह और हरबंश ङ्क्षसह की हत्या की गई थी। भगत ङ्क्षसह का परिवार तो शहर में ही रह रहा है, मगर हरबंश सिंह व उनके दो अन्य भाइयों का परिवार पंजाब के मोहाली में रह रहा है। पिछले दिनों एसआइटी ने मोहाली जाकर हरबंश ङ्क्षसह की पत्नी और दो अन्य भाइयों की पत्नियों केबयान लिए थे।

सोमवार को टीम पंजाब से लौटी। शारदानगर के उन दंगाइयों की तलाश अब शुरू कर दी है, जिन्होंने वारदात को अंजाम दिया था। अर्मापुर एस्टेट में हुई पिता-पुत्र की हत्या के मामले में भी एक पीडि़त परिवार के बयान लेने के लिए टीम को जबलपुर जाना है। सूत्रों के मुताबिक जबलपुर में रह रहे पीडि़त परिवार से फोन पर एसआइटी की बात हुई है। उनके बयान लेने के लिए टीम मध्यप्रदेश रवाना होगी।


Popular posts from this blog

घायलों की मदद करने वाले समाजसेवियों को किया गया सम्मानित

पूनम्स पब्लिक स्कूल में हुआ विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन

नेशनल मीडिया प्रेस क्लब हर सदस्य को उपलब्ध कराएगा स्वरोजगार का अवसर