अब विदेशी भाषाओं में भी खुद को दक्ष बना सकेंगे एमबीए के छात्र छात्राएं

 


कानपुर। एमबीए के छात्र छात्राएं अब विदेशी भाषाओं में भी खुद को दक्ष बना सकेंगे। यह भाषाएं न केवल उनके व्यक्तित्व में निखार लाएंगी बल्कि विदेश में नौकरी की नई राहें भी खुलेंगी। हरकोर्ट बटलर प्राविधिक विश्वविद्यालय (एचबीटीयू) में संचालित साइंस एंड टेक्नोलॉजी एंटरप्रेन्योर्स पार्क (स्टेप-एचबीटीआई) में प्रबंधन के छात्रों के लिए इस सत्र से फ्रेंच व जर्मन की आनलाइन कक्षाएं भी लगेंगी। कोविड-19 के चलते संस्थान प्रशासन ने छात्र छात्राओं के लिए आनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था की है। इन पाठ्यक्रमो में दाखिले के लिए सत्र 2020-21 की प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ हो गई है।

स्टेप-एचबीटीआई में एमबीए के साथ अन्य रोजगारपरक पाठ्यक्रमों पर भी फोकस किया जा रहा है। एक वर्ष के इन विदेशी भाषाओं के पाठ्यक्रमों की कक्षाएं शाम की पाली में संचालित की जाएंगी। कोरोना संक्रमण काल खत्म होने व स्थितियां सामान्य होने पर संस्थान प्रबंधन ऑफलाइन कक्षाएं भी शुरू करेगा। इसके लिए वरिष्ठ शिक्षकों का पूल बनाया गया है, जो एक वर्षीय पाठ्यक्रम के साथ फ्रेंच व जर्मन भाषा सीखने के बाद रोजगार के अवसरों से भी विद्यार्थियों को जोड़ेंगे।

दोनों पाठ्यक्रमों में साठ-साठ सीटों पर छात्र छात्राओं को प्रवेश मिलेगा। पहले आओ पहले पाओ के आधार पर उन्हें दाखिला दिया जाएगा। प्रवेश के लिए छात्र छात्राएं वेबसाइट पर जाकर आवेदन फाॅर्म डाउनलोड कर सकते हैं। संस्थान के समन्वयक प्रो. रामनरेश त्रिपाठी ने बताया कि कक्षाएं जल्द प्रारंभ होंगी। विदेशी भाषाओं के पाठ्यक्रमों की मांग बढ़ रही है। कोविड-19 के चलते वर्क फ्राॅम होम कल्चर से भी इसे बढ़ावा मिला है। यूएस, यूके, जर्मनी व फ्रांस की कंपनियों के लिए कई भारतीय प्रोफेशनल आनलाइन प्रोजेक्ट कर रहे हैं।

Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...