कानपुर में नवविवाहिता इंजीनियर आरजू की हत्या


उत्तर प्रदेश के कानपुर में नवविवाहिता इंजीनियर आरजू की हत्या के मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। पुलिस जांच कर रही है कि आखिर 15 दिनों के अंदर ऐसा क्या हुआ जो आरजू की हत्या कर दी गई। बता दें कि रविवार को पुलिस पति अमनदीप व ससुर को हिरासत में लेकर घाट पर पहुंची। यहां शव का अंतिम संस्कार किया गया। अमनदीप ने पत्नी के शव को मुखाग्नि दी।

सूत्रों के अनुसार पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दम घुटने से आरजू की मौत की पुष्टि हुई है। उसके मुंह, गले और चेहरे के आसपास निशान भी मिले हैं। होठों पर सूजन भी थी। इससे प्रतीत होता है कि तकिये जैसी किसी वस्तु से उसके मुंह और नाक को दबाया गया जिससे दम घुटा और मौत हो गई।

कयास लगाया जा रहा है कि आरजू की बेड पर तकिये से मुंह और नाक दबाकर हत्या कर दी गई। इसके बाद शव को बाथरूम में ले जाकर रख दिया गया। इसीलिए बाथरूम का दरवाजा अंदर से बंद नहीं था। धक्का मारते ही दरवाजा खुल गया था।

कातिल बड़े शातिराना अंदाज से हत्या को हादसे में तब्दील करना चाहता था। ससुरालियों का दावा था कि आरजू की मौत बाथरूम में गिरने से हुई थी। बाथरूम में गीजर चल रहा था। वह नहाने जा रही थी। अगर गिरने से मौत होती तो सिर पर आगे या पीछे कहीं चोट जरूर लगती।

विशेषज्ञों के अनुसार गीजर की गैस  से किसी का दम नहीं घुट सकता है और ना ही उसके चेहरे, गले और मुंह पर निशान पड़ सकते हैं। हां, यदि कोई ऐसी गैस हो जो ऑक्सीजन को अवशोषित करती है तो उसकी मौत हो सकती है। गीजर में ऐसी कोई गैस नहीं होती जिससे किसी की जान जा सके। 



Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...