श्री पंचमुखी हनुमान मंदिर श्राइन बोर्ड की बैठक हुई


 

कानपुर,इसमें सदस्यों व महंतों ने तय किया विवाद का हल होने तक मंदिर का दानपात्र नहीं खोला जाएगा।

त्रिपाठी गेस्ट हाउस में रविवार को हुई बैठक की अध्यक्षता वरिष्ठ ट्रस्टी पंडित रामजी त्रिपाठी ने की।

सर्वसम्मति से तय किया गया कि मंदिर के दानपात्र से निकलने वाली राशि का उपयोग मंदिर निर्माण में नहीं हो रहा है।

न के सदुपयोग के लिए निर्माण योजना बनाई जाएगी।

इसके साथ ही प्रशासनिक अधिकारियों की उपस्थिति में ही मंदिर के दानपात्र को खोला जाए।

मैनेजिंग ट्रस्टी अमित नारायण त्रिवेदी ने कहा कि संत नृत्यगोपाल दास महाराज का निर्णय श्राइन बोर्ड के लिए सर्वोपरि है।

Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...