नए साल के जश्न में भारी पड़ेगी कोविड प्रोटोकॉल की अनदेखी


नए साल का जश्न मनाने में कोविड प्रोटोकॉल की अनदेखी करना भारी पड़ेगा। प्रशासन ने इसे लेकर अलर्ट जारी किया है। इसके तहत दुकानों, मार्केट, मॉल, रेस्टोरेंट व फूड प्वाइंट पर बिना मास्क लगाने या भीड़ इकट्ठा होने पर दुकान का चालान किया जाएगा।

सभी जगह की वीडियोग्राफी व सीसीटीवी फुटेज को अनिवार्य बनाया गया है। इसकी निगरानी जिला प्रशासन, पुलिस और नगर निगम की टीमें करेंगी। यह जानकारी डीएम अभिषेक प्रकाश ने दी। वह अपर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक में हिस्सेदारी कर रहे थे।

अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम्य विकास मनोज कुमार ने कहा कि अगले 15 दिन कोरोना के लिहाज से अहम हैं। ऐसे में वायरस की रोकथाम को कदम उठाए जाएं। इस पर डीएम ने बताया कि आरआरटी और सर्विलांस टीमों को सक्रिय कर दिया गया है। जिन क्षेत्रों में ज्यादा केस आ रहे हैं उन पर ज्यादा फोकस है।

सरकारी व निजी ऑफिसों की भी रेंडम चेकिंग होगी। जहां कर्मचारी बिना मास्क लगाए काम करते मिलेंगे, वहां कार्रवाई होगी। बैठक में प्रमुख सचिव स्वास्थ्य आलोक कुमार, पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर आदि थे।

कंटेनमेंट जोन में कोरोना का ग्राफ कम करने के लिए मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर सख्ती होगी। सीएमओ डॉ. संजय भटनागर ने बताया कि लखनऊ में अब भी रोजाना करीब 200 लोग संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। चार से पांच मरीजों की मौत भी हो रही है।

इसमें कमी लाने के लिए सोमवार को स्वास्थ्य विभाग, विश्व स्वास्थ्य संगठन, प्रशासन व पुलिस के अफसरों की बैठक हुई। इसमें तय हुआ कि 1026 कंटेनमेंट जोन में मरीजों की संख्या में कमी लाने का प्रयास किया जाएगा।





Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...