इंजीनियर परिवार को बंधक बनाकर नकदी और जेवरात लूट ले गए बदमाश

 


उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बदमाशों ने एक बार फिर पुलिस को खुली चुनौती दी है। मंगलवार रात पॉश एरिया विभूति खंड कोतवाली क्षेत्र में करीब 6 बदमाशों ने गन्ना विभाग के असिस्टेंट इंजीनियर के परिवार को बंधक बनाकर लूटपाट की वारदात को अंजाम दिया। इसके बाद करीब 4 लाख की नकदी और सोने-चांदी के आभूषण लूटकर फरार हो गए। यह वारदात रात 2 बजे की है। सुबह करीब 8 बजे किसी तरह परिवार मुक्त हो पाया तो पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने घटना के अनावरण के लिए 5 टीमों का गठन किया है।

विभूति खंड कोतवाली क्षेत्र के विराज खंड क्षेत्र में इंजीनियर योगेश श्रीवास्तव परिवार के साथ रहते हैं। वर्तमान में उनकी तैनाती मेरठ में है। वे वहीं थे। मंगलवार की देर रात करीब 2 बजे छह से अधिक बदमाशों ने इंजीनियर के घर पर धावा बोला। इनमें से 5 बदमाशों ने खिड़की काटकर घर के भीतर एंट्री की। इसके बाद इंजीनियर की पत्नी व बेटी के साथ मारपीट की और बंदूक की नोक पर लेकर नकदी व जेवरात की जानकारी मांगी। इसके बाद लूट की घटना को अंजाम देकर बदमाश फरार हो गए।

पड़ोसियों का कहना है कि बीते 3 माह पहले दो व्यक्तियों के द्वारा खुद को पुलिसकर्मी बताकर एक महिला से उसके गहने लूटे गए थे। इसकी सूचना थाने पर दी गई, लेकिन थाने वालों ने कोई मुकदमा नहीं दर्ज किया। वहीं, 20 अगस्त 2016 को विभूति खंड इलाके के 2/35 विराज खंड में रहने वाले अम्बेडकर नगर में वन विभाग में अशोक कुमार शुक्ला के घर पड़ी डकैती थी। हालांकि इस लखनऊ पुलिस ने खुलासा करते हुए ज्वालापुर हरिद्वार निवासी अजय कुमार बहेलिया, देवरिया पुवायां शाहजहांपुर निवासी केपी और सोनू को गिरफ्तार किया था। गिरोह के सदस्यों के पास से लूट के 90 हजार रुपए नकद और जेवरात बरामद किए थे।

Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...