तीन हजार बाशिंदे पीने के पानी के लिए तरसे

 


कानपुर। कांशीराम कॉलोनी पनकी में पाइप लाइन फट जाने से तेजी से पानी बहने लगा और खत्म हो गया। इससे सुबह बाल्टी लेकर पीने के पानी के लिए घंटों लाइन लगाने वालों पर जैसे आफत आ गई। उनके घर में एक बूंद भी पानी नहीं बचा है, जिसके लिए वो कई किमी दूर से पानी लाने के लिए मजबूर हैं। क्षेत्र में सिर्फ एक सबमर्सिबल बचा हुआ जहां पर लंबी कतार लग गई है। क्षेत्रीय लोगों ने बताया कि यहां पर लगी पाइन लाइन अक्सर टूट जाती है, जिसके लिए कई बार शिकायत करनी पड़ती है। तब कहीं जाकर कोई सुध लेने आता है, जिससे पानी के भारी संकट से जूझना पड़ता है।

सोमवार को कॉलोनी में मुख्य पाइप लाइन फट जाने के कारण क्षेत्र में जलापूर्ति ठप हो गई है। इसके कारण तीन हजार जनता पीने के पानी के लिए जूझ रही है। क्षेत्र की रेशमा बेगम, सतीश, रामसेवक, राम लखन, अमित इदरीश, सोनी, पूजा, संतोष ने बताया कि पीने के पानी भरने के लिए जूझना पड़ता है। क्षेत्र में लगे हैंडपंप खराब पड़े हुए है एक मात्र सबमर्सिबल पंप लगा है इससे ही पूरी कॉलोनी के लोग पीने का पानी भर रहे है। पानी भरने के लिए सुबह से ही लाइन लगानी पड़ रही है। बाहर से भरकर पानी लाना पड़ता है। 

बर्रा, गोविंदनगर, कर्नलगंज, विश्वबैंक, चमनगंज समेत कई जगह दूषित पानी आने के कारण लोगों को जूझना पड़ रहा है। इसको लेकर लोगों ने कई बार जलकल के अफसरों से शिकायत भी की, लेकिन आज तक समस्या का निस्तारण नहीं हो पाया है।

फटी है वो केडीए की कॉलोनी है। अभी पेयजल लाइन हस्तानांतरित नहीं की है। लाइन फटने की जानकारी केडीए को दे दी गयी है। जल्द ही समस्या का निस्तारण हो जाएगा। 


Popular posts from this blog

घायलों की मदद करने वाले समाजसेवियों को किया गया सम्मानित

पूनम्स पब्लिक स्कूल में हुआ विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन

नेशनल मीडिया प्रेस क्लब हर सदस्य को उपलब्ध कराएगा स्वरोजगार का अवसर