जीआरपी ने कनपटी मार गिरोह सरगना को किया गिरफ्तार

 


कानपुर. उत्तर प्रदेश में अपराध के मामले कम होने के नाम नहीं ले रहे हैं. इसी बीच  खबर है कि जीआरपी ने कानपुर में मोस्ट वांटेड कनपटी मार गिरोह के सरगना को साथी समेत गिरफ्तार किया है. ये लोग सेंट्रल स्टेशन के आसपास लूटपाट की घटनाओं का अंजाम देते थे.  इन दोनों के ऊपर कई आपराधिक मामले दर्ज हैं. पुलिस इनकी पिछले कई दिनों से तालश कर रही थी.


जीआरपी थाने में सीओ कमरुल हसन और इंस्पेक्टर राम मोहन राय ने बताया कि फतेहपुर के हुसैनगंज निवासी सरगना कैलाश चौहान पर 36 मुकदमे जीआरपी व 15 फतेहपुर जिला पुलिस में दर्ज हैं. वहीं, उसके साथी कौसर अली पर छह मुकदमे दर्ज हैं. पुलिस ने इनके पास से पांच मोबाइल, सोने की चेन, कान व नाक की बाली, एक जोड़ी चांदी की पायल व नकदी बरामद की है. फिलहाल, पुलिस ने दोनों को जेल भेज दिया है.

वहीं, कुछ देर पहले खबर सामने आई थी कि  नोएडा के फलैदा गांव के पास पुलिस व बदमाशों के बीच मंगलवार की रात मुठभेड़ हुई, जिसमें पांच बदमाश घायल हो गए. पुलिस उपायुक्त (जोन थर्ड) राजेश कुमार सिंह ने बताया कि मंगलवार की देर रात को थाना रबूपुरा क्षेत्र के बीरमपुर गांव से अज्ञात बदमाशों ने एक भैंस चोरी कर ली थी. इस घटना की सूचना पर थाना पुलिस फलैदा गांव के पास चेकिंग कर रही थी, तभी पता चला कि पशु चोर यमुना एक्सप्रेस वे के रास्ते भागने की फिराक में हैं. उन्होंने बताया कि सूचना के आधार पर पुलिस ने चेकिंग शुरू कर दी. फलैदा गांव के पास पुलिस को एक कार व मोटरसाइकिल पर सवार होकर बदमाश आते हुए दिखाई दिए. रोकने पर बदमाशों ने पुलिस पर गोली चलाई.

डीसीपी ने बताया कि जवाबी करवाई करते हुए पुलिस ने भी गोली चलाई जिसमें महेंद्र, जुगनू, साबू, फिरोज तथा इस्तकार नामक बदमाश घायल हो गए. सभी बदमाश जनपद अलीगढ़ के रहने वाले हैं. उन्होंने बताया कि बदमाशों को उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है. इनके कब्जे से चोरी की गई भैंस, एक इको कार, 5 देशी तमंचे, कारतूस, रस्सी, चाकू तथा 50 हजार रुपए नगद आदि बरामद हुए हैं. गिरफ्तार बदमाशों ने जेवर क्षेत्र तथा हरियाणा में भैंस चोरी की कई वारदातें करनी स्वीकार की है. इन बदमाशों पर उत्तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों में एक दर्जन से ज्यादा लूट, डकैती व चोरी तथा गैंगस्टर के मामले दर्ज हैं.


Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...