खाता खुलवाने के नाम पर कई महिलाओं से ली गई फिंगर प्रिंट

 


अमरोहा में समूह बनाने व प्राइवेट बैंक में खाता खुलवाने के नाम पर एक युवक ने महिलाओं के फिंगर प्रिंट ले लिए। इसके बाद एक महिला के खाते से 10000 रुपये निकाल लिए गए। ठगी का एहसास होने पर पीड़िता ने एसपी से शिकायत की। एसपी के आदेश पर पुलिस ने अज्ञात युवक के खिलाफ धोखाधड़ी की एफआईआर दर्ज कर ली है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

धोखाधड़ी की यह घटना कोतवाली क्षेत्र के औरंगाबाद गांव की है। यहां मजदूर राजेंद्र सिंह का परिवार रहता है। उनकी पत्नी सोमवती देवी का यूपी ग्रामीण बैंक पंचायती कला में खाता है। तीन दिन पहले राजेंद्र सिंह मजदूरी करने गांव से बाहर गया था, तभी एक व्यक्ति उनके घर पहुंचा। 

एक स्वयं सहायता समूह में महिलाओं को शामिल करने और प्राइवेट बैंक में इसका खाता खुलवाने के नाम पर कुछ महिलाओं को एकत्र कर लिया। यहां उसने महिलाओं के आधार कार्ड और बैंक की पासबुक भी मंगवा ली। आरोपी ने फिंगर प्रिंट मशीन निकालकर महिलाओं के अंगूठे लगवा लिए। 

इस दौरान सोमवती ने भी विश्वास में आकर अपना फिंगर प्रिंट दे दिया। शाम को सोमवती ने यह बात अपने पति राजेंद्र सिंह को बताई। इस दौरान राजेंद्र के फोन पर 10000 रुपये कटने का मैसेज मिला तो उसके होश उड़ गए। दंपती को ठगी का एहसास हुआ तो बैंक पहुंचे। यहां अपने खाते पर रोक लगवाई। 

बाद में एसपी को शिकायती पत्र देकर करवाई की मांग की। एसपी के निर्देश पर डिडौली पुलिस ने अज्ञात युवक के खिलाफ धोखाधड़ी और आईटी एक्ट की धाराओं में एफआईआर दर्ज कर ली है।




Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...