देश में कानपुर सबसे प्रदूषित

 


शुक्रवार को जारी किए गए एयर क्वालिटी इंडेक्स में ताजनगरी में जहरीली गैसों में कमी आई, लेकिन धूल कणों की मात्रा सामान्य से छह गुना तक ज्यादा रही। कार्बन मोनोऑक्साइड की मात्रा पहली बार सामान्य रही, जबकि अधिकतम स्तर 18 तक पहुंचा जो इस सीजन में सबसे कम है। हालांकि धूल कणों की मात्रा ज्यादा दर्ज की गई। पार्टिकुलेट मैटर 2.5 और पीएम- 10 कणों की मात्रा सामान्य से 6 गुना से ज्यादा रही। पीएम 2.5 कणों की संख्या 397 तक पहुंच गई।

दिल्ली एनसीआर में न केवल वाहनों की संख्या आगरा से कई गुना ज्यादा है, वहीं निर्माण कार्य और इन्फ्रास्ट्रक्चर की योजनाएं भी आगरा से ज्यादा हैं, लेकिन ताज ट्रिपेजियम जोन होने के बाद भी आगरा में प्रदूषण स्तर ज्यादा बना हुआ है। धूल नियंत्रण के उपाय न किए जाने के कारण आगरा की हवा ज्यादा प्रदूषित है। स्मार्ट सिटी कंपनी, नेशनल हाइवे अथारिटी और जल निगम यमुना प्रदूषण नियंत्रण इकाई, निर्माण इकाई के कार्यों के कारण धूल कणों की मात्रा सामान्य से 6 से 8 गुना तक बनी हुई है।



Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...