निजी अस्पताल में इलाज के दौरान महिला की मौत पर सोमवार को बखेड़ा


 मेरठ के एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान महिला की मौत पर सोमवार को बखेड़ा हो गया। महिला के परिजनों ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाकर हंगामा किया। पीड़ित परिवार की तहरीर पर थाना नौचंदी में अस्पताल के पांच चिकित्सकों और एक मैनेजर पर केस दर्ज कर लिया है।

मोनिका पत्नी शिवकुमार निवासी अलीपुर सरधना को दो दिन पहले घुटने में दर्द होने की शिकायत पर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मोनिका का रविवार रात घुटने का ऑपरेशन होना था। रविवार देर रात महिला के परिजनों ने आरोप लगाया था कि चिकित्सकों ने मोनिका को गलत इंजेक्शन लगा दिया, जिससे उसकी हालत बिगड़ गई।

सोमवार को महिला की मौत हो गई। जिस पर परिजनों ने अस्पताल में हंगामा शुरू। नौचंदी थाने की पुलिस ने पीड़ित परिवार को समझा-बुझाकर शांत किया और शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। पुलिस ने मोनिका के देवर अंकित की तहरीर पर संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया।

सिविल लाइन थाना क्षेत्र के एक निजी अस्पताल में सोमवार देररात इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई। परिजनों ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाकर हंगामा कर दिया। सुधा (32) पत्नी सुरेंद्र रामगढ़, अलीगढ़ को पथरी की शिकायत थी। रविवार को परिजनों ने सुधा को निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। सूचना पर सिविल लाइन थाने की पुलिस मौके पहुंची और परिजनों को शांत किया।

मोनिका के परिजनों की शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज भी देखी जा रही है। दोनों मामलों में जांच पड़ताल के बाद आगे की कार्रवाई होगी।



Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...