दो युवकों ने डाक विभाग के रिटायर्ड कर्मचारी को बंधक बनाकर की लूटपाट

 


राजधानी लखनऊ में डिलीवरी ब्वॉय बनकर आए दो युवकों ने डाक विभाग के रिटायर्ड कर्मचारी के घर में लूटपाट की। बदमाशों ने पार्सल रिसीव करने के बहाने में बुजुर्ग को बंधक बना लिया। विरोध करने पर उनकी पिटाई की। इसके बाद लाखों के जेवरात और 10 हजार रुपए नकदी लूटकर फरार हो गए। बुजुर्ग पीड़ित की सूचना पर पहुंची पुलिस ने पड़ताल की है। माना जा रहा है कि बदमाशों ने पहले घर की रैकी की थी। बुजुर्ग वारदात के वक्त घर पर अकेला था।

गाजीपुर थाना क्षेत्र में इंदिरानगर के सेक्टर-19 में रहने वाले श्रीचंद चौबे सोमवार रात घर पर अकेले थे। इसी बीच दो युवक वहां पहुंचे और दरवाजे पर दस्तक दी। श्रीचंद के बाहर निकलने पर युवकों ने कहा कि वे डाक विभाग से एक पार्सल लेकर आए हैं। श्रीचंद यह सुनकर कमरे से बाहर निकल आए। तभी एक बदमाश ने कागज थमाते हुए पार्सल रिसीव करने के लिए कहा। श्रीचंद ने पेन मांगा तो युवकों ने कहा कि उनके पास कलम नहीं है। आप ही लेते आइए। श्रीचंद कलम लाने के लिए भीतर कमरे में चले गए। उनके पीछे-पीछे एक बदमाश भी घर में दाखिल हो गया।

वहीं, दूसरे बदमाश ने गेट बंद कर दिया और वह भी श्रीचंद के पास पहुंच गया। इसके बाद दोनों ने श्रीचंद को बंधक बना लिया। विरोध पर उनकी पिटाई की और शोर मचाने पर जान से मारने की 

पीड़ित का कहना है कि बदमाशों ने पांच सोने की अंगूठी, एक चेन, तीन मोबाइल फोन, एक चांदी का गुच्छा और 10 हजार रुपए लूट लिए। बदमाशों के जाने के बाद पीड़ित ने किसी तरह खुद को मुक्त किया और आसपास के लोगों को घटना की जानकारी दी। इसके बाद गाजीपुर थाने की पुलिस को सूचना दी गई। उत्तरी ने बताया कि एक रिटायर्ड कर्मचारी के घर दो लड़के डिलीवरी ब्वॉय बनकर आए और जेवरात और नकदी लूटी। मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। माना जा रहा है कि बदमाशों ने रैकी कर घटना को अंजाम दिया है।

Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...