कल्याणपुर, मस्वानपुर जलेश्वर मंदिर के पीछे झाडिय़ों में युवक का शव


 कानपुर

कल्याणपुर, मस्वानपुर चौराहे के पास स्थित जलेश्वर मंदिर के पीछे झाडिय़ों में युवक का शव पड़ा मिला। स्थानीय लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का मुआयना कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं मृतक के चेहरे पर चोट के निशान देख स्वजन ने युवक की हत्या किए जाने का आरोप लगाया है।

आवास विकास तीन के हसनपुर गांव में रहने वाले मोहन लाल यादव जल निगम से सेवानिवृत्त है। उनका 30 वर्षीय बेटा प्रशांत ट्रेवल्स एजेंसी में गाड़ी चलाने का काम करता था। प्रशांत तीन बहनों में अकेला होने के चलते परिवार का सहारा था। शुक्रवार शाम प्रशांत एक दोस्त की शादी में शामिल होने की बात कह कर घर से निकला था। शनिवार रात तक घर न लौटने पर मां रोमा ने प्रशांत के दोस्तों से संपर्क किया। लेकिन प्रशांत के संबंध में कोई जानकारी नहीं हुई। रविवार दोपहर मस्वानपुर चौराहे के पास स्थित जलेश्वर मंदिर के पीछे झाडिय़ों में प्रशांत का शव पड़ा मिला। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का मुआयना किया। 

मृतक की जेब से मिले आधार कार्ड से पुलिस ने शव की शिनाख्त कर स्वजनों को सूचना दी। मामले की जानकारी होते ही घर में कोहराम मच गया। बदहवास हालत में घटनास्थल पहुंचे स्वजनों ने चेहरे पर चोट के निशान देख हत्या का आरोप लगाया। कल्याणपुर इंस्पेक्टर ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

प्रशांत का अपनी पत्नी ममता से विवाद होने के चलते ममता ने 5 वर्ष पहले अपनी चार साल की बेटी आराध्या व 7 दिन के बेटे प्रभु को छोड़कर दूसरा विवाह कर लिया था, जिसके बाद से दोनों बच्चों की जिम्मेदारी प्रशांत के कंधों पर आ गई थी।