शोपियां में आतंकियों से मुठभेड़ में मेरठ का जवान शहीद

 


उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले का एक जवान जम्मू-कश्मीर के शोपियां में आतंकियों से मुकाबला करते हुए शहीद हो गया। शहादत की खबर मिलते ही परिवार व गांव में शोक की लहर दौड़ गई है। आज शाम तक शहीद जवान का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव लाया जाएगा। जहां उनका सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा।

मुख्यमंत्री योगी ने जवान के शौर्य और वीरता को नमन करते हुए भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की है। साथ ही परिवारजनों को 50 लाख रुपए की मदद और एक सदस्य को सरकारी नौकरी, जिले की एक सड़क का नामकरण शहीद के नाम पर करने की घोषणा की है।

गांव सिसौली निवासी अनिल कुमार तोमर भारतीय थलसेना की 44वीं राष्ट्रीय राइफल्स में बतौर घातक प्लाटून हवलदार के पद पर तैनात थे। बीते शनिवार को दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले के कनीगाम गांव में आतंकवादियों के छिपे होने की खबर मिलने पर एक ऑपरेशन चलाया गया था। इसी बीच आतंकवादियों और सैनिकों की मुठभेड़ हो गई। आतंकियों की ओर से की गई फायरिंग में हवलदार अनिल कुमार गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे। उन्हें इलाज के लिए श्रीनगर स्थित 92 बेस अस्पताल भेजा गया था। जहां इलाज के दौरान उन्होंने सोमवार की सुबह अंतिम सांस ली।

शहीद अनिल तोमर का पार्थिव शरीर श्रीनगर से आज गांव लाया जाएगा। जहां उनका राजकीय और सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा। अनिल तोमर के शहीद होने की सूचना से परिजनों में कोहराम मचा है। गांव के लोग उनके आवास पर एकत्र हो रहे हैं।

Popular posts from this blog

घायलों की मदद करने वाले समाजसेवियों को किया गया सम्मानित

पूनम्स पब्लिक स्कूल में हुआ विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन

नेशनल मीडिया प्रेस क्लब हर सदस्य को उपलब्ध कराएगा स्वरोजगार का अवसर