आज UP के किसानों को मिलेगी 4,260 करोड़ की सौगात

 



  • भाजपा प्रदेश अध्यक्ष समेत अन्य नेताओं ने लोकभवन में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी की प्रतिमा पर किया पुष्प अर्पित
  • पीएम मोदी करेंगे किसानों से वर्चुअल संवाद, लखनऊ के मोहनलाल गंज में होगा कार्यक्रम, सीएम योगी होंगे मौजूद
  • लंबे समय तक संसद में लखनऊ का प्रतिनिधित्व करने वाले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी का आज जन्मदिन है। योगी सरकार इसे सुशासन दिवस के रुप में मना रही है। सुबह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया।

    इस खास मौके को यादगार बनाने के लिए आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी UP के 2 करोड़ 13 लाख से अधिक किसान परिवारों को किसान सम्मान निधि की नई किश्त के तहत 4,260 करोड़ की राशि प्रदान करेंगे| मोदी की वर्चुअल उपस्थिति वाले इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहेंगे। वहीं, मोहनलालगंज के सपा विधायक अम्ब्रीश पुष्कर को पुलिस ने नजरबंद कर दिया है।



  • प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत उत्तर प्रदेश के किसानों को अब तक कुल 24 हजार 183 करोड़ की धनराशि मिल चुकी है। शुक्रवार को ऑनलाइन हस्तांतरण के बाद यह राशि 28 हजार 443 करोड़ हो जाएगी। केंद्र सरकार इस योजना के तहत हर पात्र किसान को दो-दो हजार रुपए की तीन बराबर किश्तों में साल भर में 6000 रुपए देती है। यह पैसा ऐसे समय दिया जाता है, जब रबी, खरीफ और जायद की फसलों में कृषि निवेश के लिए किसानों को इसकी बेहद जरूरत होती है। योजना की घोषणा वर्ष 2019 में हुई थी। किसानों के हित की इस बेहद महत्वाकांक्षी योजना पर हर साल केंद्र सरकार को 75,000 करोड़ रुपए खर्च करने होते हैं।

  • मोहनलालगंज सपा विधायक अम्ब्रीश सिंह पुष्कर को उनके आवास पर नजरबंद कर दिया गया है। सपा का आरोप है कि बदहाल कानून व्यस्था व किसानों के मुद्दे पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को काले झंडे दिखाने की सपा कार्यकर्ता तैयारी में थे। वहीं, सुजीत पांडे हत्याकांड का खुलासा न होने से नाराज़ सपा कार्यकर्ताओं ने बड़े विरोध प्रदर्शन करने की चेतावनी दी थी। जिसके बाद पुलिस ने सपा विधायक समेत दो दर्जन से ज्यादा सपा कार्यकर्ताओं को नजरबंद कर दिया है।

Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...