आम आदमी पार्टी ने सौपा जिलाधिकारी को ज्ञापन

 


कानपुर देहात। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र संशोधन अधिनियम 2021 के विरोध में आज आम आदमी पार्टी के देहात जिलाध्यक्ष ने कानपुर देहात जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर कानून को रद्द करने की मांग की।

ज्ञापन में आप ने लिखा है कि भाजपा की केंद्र सरकार संसद में एक बेहद खतरनाक बिल लाकर चुनी हुई दिल्ली सरकार को कमजोर करने की साजिश कर रही है ।



इस बिल के पास होने के बाद एलजी के पास सभी शक्तियां होंगी और दिल्ली सरकार के सभी प्रस्ताव को लागू करने का फैसला उनकी मेहरबानी पर होगा। दिल्ली विधानसभा में मिली करारी हार एमसीडी उपचुनाव में 0 सीट मिलने और दिल्ली से लेकर गुजरात तक जिस तरह से आम आदमी पार्टी की लोकप्रियता बढ़ी है, जन समर्थन बढ़ रहा है उससे भाजपा परेशान है। इसलिए भारतीय जनता पार्टी एक बार पुनः दिल्ली में षणयंत्र कर चोर दरवाजे से संविधान पीठ के फैसले को पलटते हुए दिल्ली की चुनी हुई सरकार को कमजोर करने और दिल्ली में विकास कार्य ठप करने के षणयंत्र में आगे बढ़ चुकी है। संसद के अंदर जो संशोधन बिल प्रस्तुत किया गया वह साफ-साफ इस बात को दिखा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी की मंशा क्या है। पिछली बार जब दिल्ली में अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी थी और अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली सरकार ने काम करना शुरू किया था। उस समय गृह मंत्रालय की तरफ से एक आदेश जारी किया गया और दिल्ली सरकार के काम की रफ्तार को ठप करने के लिए सारी शक्तियां एलजी को दे दी। दिल्ली सरकार की सभी फाइलें एलजी के जरिए केंद्र सरकार ने एलजी हाउस में मंगा कर स्टोर करा दिया 

शुगलू कमेटी बनाई गई लंबे समय तक फाइलों पर बैठकर काम को ठप किया गया। आपको यह भी याद होगा कि दिल्ली के अंदर मोहल्ला क्लीनिक बनाने के प्रस्ताव पर कई साल तक देर किया गया। सीसीटीवी कैमरा की फाइल को लेकर एलजी हाउस बैठ गया मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री सत्येंद्र जैन और गोपाल राय चार लोग उस फाइल को मंजूरी दिलाने के लिए एलजी हाउस में दिन-रात बैठे रहे। आज एक बार फिर वही परिस्थिति दिल्ली के अंदर पैदा करने का षड्यंत्र शुरू हुआ है। जिसकी शुरुआत कल संसद के बिल प्रस्तुत करने पर किया गया है। दिल्ली के लोग इस बात को लेकर काफी चिंतित हैं कि आखिर यह क्यों किया जा रहा है। अभी दिल्ली सरकार ने 1 साल के कोरोना काल के बाद दिल्ली के अंदर देशभक्ति बजट प्रस्तुत किया है। कई सारी नई कार्य योजनाएं बनाई गई हैं। जिसको दिल्ली के अंदर लागू करना है। दिल्ली के अंदर आजादी के 75 वीं वर्षगांठ के अवसर पर देशभक्ति को लेकर अभियान चलाने का निर्णय हुआ है। देशभक्त पाठ्यक्रम को दिल्ली के अंदर लागू करने का निर्णय हुआ यह जितने भी बजट के अंदर दिल्ली सरकार के प्रस्ताव लाए हैं अब उन सारे प्रस्ताव को लागू करने का फैसला एलजी की मेहरबानी पर होगा।

ज्ञापन देने वालो में आशुतोष पांडे जिला अध्यक्ष आम आदमी पार्टी विवेश यादव (एडवोकेट), सूरत सिंह यादव, सुनील यादव विकास मिश्रा, प्रखर पाठक, मनीष कुमार, सतीश गोयल, संजय चित्रांशी, संजय मधुपिया, वैभव कुमार ,बाबू सिंह यादव, पंकज दीक्षित ,अशोक गुप्ता, अंकुर तिवारी ,अजीत सिंह चौहान, उमाशंकर सक्सेना , विजय कुशवाहा, सत्या द्विवेदी , शिव सहाय दिवाकर, चेतन यादव ,उदय भान राजपूत, शंकर सिंह नायक, रवि नायक  ललित श्रीवास्तव , वहुल यादव पूर्व अध्यक्ष आशीष गुलाटी , छात्र इकाई से जिलाध्यक्ष अर्पित दुबे , उपेंद्र सिंह सुनील पाल हर्षित यादव वीरेंद्र यादव आदि लोग उपस्थित रहे।

Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...