उन्नाव में पत्रकार के साथ हुए मारपीट को लेकर कानपुर देहात प्रेस क्लब ने की सीडीओ की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग

कानपुर। उन्नाव मियागंज ब्लाक प्रमुख चुनाव मतगणना के दौरान सीडीओ दिव्यांशु पटेल और बीजेपी नेताओं के द्वारा टीवी चैनल के पत्रकार व कैमरामैन कृष्णा तिवारी को दौड़ा-दौड़ा कर मारा पीटा गया। जिसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिस मामले को लेकर आज कानपुर देहात प्रेस क्लब ने  मामले की घोर निंदा करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को पांच सूत्रीय मांगों को लेकर ऑनलाइन ज्ञापन दिया।

कानपुर देहात प्रेस क्लब ने मांग की है कि

1- सीडीओ दिव्यांशु पटेल को तत्काल निलंबित किया जाये।

2- एफआईआर दर्ज कर मामले की उच्च स्तरीय जांच की जाए।

3- घटना में शामिल सीडीओ और भाजपा नेताओं की यथाशीघ्र गिरफ्तारी हो ।

4-उत्तर प्रदेश में पत्रकार संरक्षण अधिनियम लागू किया जाए ।

5-उत्तर प्रदेश में पत्रकारों पर बढ़ती उत्पीड़न की घटनाओं पर जल्द से जल्द रोक लगाई जाए।

अन्यथा कानपुर देहात प्रेस क्लब जमीनी संघर्ष करने हेतु बाध्य होंगे । प्रेस क्लब अध्यक्ष अजय कुमार श्रीवास्तव ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि सत्ता और पावर के नशे में चूर जिम्मेदार लोगों द्वारा इस तरह की घटना को अंजाम दिया जा रहा है। आने वाले दिनों में इसका खामियाजा भुगतने के लिए सरकार तैयार रहे। बार बार अनुरोध करने के बाद भी सरकार पत्रकारों पर हो रहे हमलों पर रोक लगाने में असफल साबित हो रही है। वही प्रेस क्लब के महामंत्री एडवोकेट योगेन्द्र अग्निहोत्री ने कहा कि पूरे प्रदेश में  पत्रकारों पर हमले हो रहे है हत्याएं हो रही है। जिम्मेदार लोग आंखे बंद करके बैठे है। एफआईआर दर्ज करने में लेट-लतीफी से स्पष्ट होता है कि पुलिस प्रशासन सत्ता की धमक के आगे बेबश, लाचार और मजबूर बनी हुई है।

सत्ता के बल पर सीडीओ द्वारा खुलेआम गुंडई की जा रही है जो तानाशाही को दर्शाता है। अगर हमारी मांगे न पूरी हुई तो शीघ्र ही हम सड़को पर उतर कर आंदोलन के लिए मजबूर होंगे।

Featured Post

भारत सरकार ने दूरस्थ शिक्षा की गुणवत्ता पर लगाई मोहर: प्रोफेसर सीमा सिंह

कानपुर। मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को उच्च शिक्षा से वंचित ग्रामीण अंचलों के शिक्षार्थियों के द्वार तक ले जाने में अध्ययन केंद्र बहुत महत्वपूर्ण...