प्यादे हों या वजीर, सभी आफताब के इशारे पर चल रहे अपनी चाल!


पुलिस की गिरफ्त में आए खूंखार कातिल आफताब की जिंदगी के हर राज अब धीरे-धीरे बेपर्दा होने लगे हैं. श्रद्धा के कत्ल की साजिश का मामला हो या कपड़े की तरह गर्लफ्रेंड बदलने का शौक, पुलिस के सामने उसकी पूरी जिंदगी किताब की तरह से खुलकर आ चुकी है.

शातिर आफताब शतरंज के खेल का मंझा हुआ खिलाड़ी है. ऐसा खिलाड़ी जो खुद की चाल खुद के खिलाफ चलता है, ऐसा खिलाड़ी जो अपनी ही चाल का खुद ही जवाब देता है. यानी आफताब शतरंज का ऐसा खिलाड़ी है, जो दोनों छोर से अकेले ही बाजी खेलता है- यानी शह भी उसकी मात भी उसकी.

आफताब पूनावाला की नई गर्लफ्रैंड इस बात से बेखबर थी कि आफताब एक कातिल है और जिस फ्लैट में वह उससे मिलने जाती थी, वहां उसने हत्या कर रखी है. जैसे-जैसे दिल्ली पुलिस ने आफताब की कुंडली खंगालनी शुरू की तो पुलिस को पता लगा कि आफताब तकरीबन 15 से 20 लड़कियों के सम्पर्क में अलग-अलग डेटिंग साइट्स के जरिए आया था. जांच में पुलिस को बंबल ऐप के जरिए एक ऐसी लड़की के बारे में जानकारी मिली जो श्रद्धा की हत्या के करीब 12 दिन बाद यानी 30 मई को आफताब के संपर्क में ऐप के जरिए आई थी.

Popular posts from this blog

घायलों की मदद करने वाले समाजसेवियों को किया गया सम्मानित

पूनम्स पब्लिक स्कूल में हुआ विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन

नेशनल मीडिया प्रेस क्लब हर सदस्य को उपलब्ध कराएगा स्वरोजगार का अवसर